हम यहां आपके लिए मौजूद हैं क्योंकि हम लोगों ने भी संघर्ष किया है।

क्या आप आत्महत्या के बारे में सोच रहे हैं?

सलाहकार से बात करें
Language ਪੰਜਾਬੀ / English

क्या आप अपनी सीमा के अंत पर हैं? असहाय या निराश महसूस कर रहे हैं? पता नहीं कि आप एक और दिन का सामना कैसे करेंगे? ये संसाधन आपकी मदद करेंगे:

आपको जीवन को एक और मौका क्यों देना चाहिए?

आप यह लेख पढ़ रहे हैं क्योंकि आप आत्महत्या के बारे में सोच रहे हैं। या हो सकता है कि आप किसी को जानते हो जो ऐसा सोच रहा है।.

यदि आप वह व्यक्ति हैं, जिसने जीने की आशा खो दी है, तो कृप्या इसे पढ़ें। मुझे आपसे व्यक्तिगत तौर पर बात करने दें। मुझे पता है कि आपने पहले ही अपने जीवन को समाप्त करने की ठान ली है या इसकी कोशिश कर चुके हैं। आप यही सोचते रहते हैं कि आपका जीवन कितना निराशाजनक है, कि आप इस तरह नहीं जी सकते। दर्द बहुत अधिक है। कोई भी उस बोझ या आपके द्वारा अनुभव की जा रही भावनात्मक उथल-पुथल को नहीं समझता है।

पर, अब आप यहां हैं और क्योंकि आप हैं, तो मुझे आपसे कुछ आशा बांटने दे,, कि कैसे आपका जीवन अलग हो सकता है, कि कैसे आपको जीवन को एक और मौक़ा देना चाहिए।.

विकल्प: मैं आपसे अपने जीवन को समाप्त करने की कोशिश करने के अलावा कुछ और करने पर विचार करने के लिए कहना चाहता हूँ। आपने किसी से परामर्श लेने या किसी से बात करने की नाकाम कोशिश की होगी। मैं आपसे फिर कुछ कदम उठाने की कोशिश करने के लिए कह रहा हूं, ऐसे कदम जो आपको एक नई दिशा की ओर जाने में मदद करेंगे, जो आपको उन नुकसान पहुंचाने वाले विचारों से दूर ले जाएँगे जो आपको तंग कर रहे हैं।

आप कह सकते हैं, “मुझे पता है क्यों। मैं विफल इंसान हूँ। मैं कर्ज में डूबा हूँ। मेरी पत्नी/पति ने मुझे छोड़ दिया। किसी की मृत्यु हो गई। मैं बेरोज़गार हूँ। मैं अकेला हूँ। मैं ______ (आप रिक्त स्थान भरें)।” मैं आपको बताना चाहता हूँ कि हालांकि आपकी कई समस्याएं और संघर्ष हैं, संभव है कि आप अपने तंत्रिका तंत्र में रसायनों की शारीरिक कमी से भी जूझ रहे हैं। यह आपके अवसाद का एक प्रमुख कारण हो सकता है।

सबसे पहले, आपको यह समझने की आवश्यकता है कि आप को अवसाद क्यों हैं।.

कुछ लोग जिन्हें अवसाद है, वे नहीं जानते कि अवसाद न्यूरोकेमिकल्स की कमी से भी होता है। विश्व प्रसिद्ध मेयो क्लिनिक के एक हाल ही के लेख में कहा गया है कि Mayo Clinic "विशेषज्ञों का मानना है कि पर्यावरणीय कारकों, जैसे कि तनाव या शारीरिक बीमारी के साथ एक आनुवंशिक भेद्यता, न्यूरोट्रांसमीटर नामक मस्तिष्क रसायनों में असंतुलन पैदा कर सकती है, जिसके कारण अवसाद होता है। तीन न्यूरोट्रांसमीटर में असंतुलन - सेरोटोनिन, नॉरएपीनेफ्रिन और डोपामाइन - अवसाद से जुड़े हुए प्रतीत होते हैं।"

ये रसायन लोगों को ध्यान केंद्रित करने, मूड में सुधार करने और ऊर्जा बढ़ाने में मदद करते हैं। दवा इन न्यूरोकेमिकल्स को बढ़ाने में मदद कर सकती है, व्यायाम जैसे प्राकृतिक तरीकों और आध्यात्मिक रूप से विकसित होने के लिए समय लेना भी मददगार है। आपको अभी भी कई समस्याओं जैसे कि किसी प्रिय की मृत्यु या तलाक, आत्मसम्मान की कमी, ग्लानि, नाराज़गी, क्रोध, या अतीत में हुए यौन शोषण से निपटने की आवश्यकता है। उन संकटों और हानियों से निपटने, उन्हें संसाधित करने और उनका शोक मनाने की आवश्यकता है।.

क्या आप अवसाद के लिए परामर्श ले रहे हैं और आपका इलाज किया जा रहा है? यदि नहीं, तो मदद के लिए तुरंत अपने पारिवारिक डॉक्टर या मनोचिकित्सक या निकटतम आपातकालीन कक्ष में जाएं। आप राफ़ा की हॉटलाइन पर कॉल कर सकते हैं और अमेरिका में कहीं से भी 1-800-383-4673 पर एक काउंसलर से फोन मूल्यांकन और एक रेफरल प्राप्त कर सकते हैं। कनाडाई और अंतर्राष्ट्रीय हॉटलाइन के लिए, कृप्या इस पृष्ठ का शीर्ष देखें या अपने स्थानीय संसाधनों की खोज करें। कृप्या यह तुरंत करें!

यदि आप इस वक्त परामर्श ले रहे हैं, तो आपको इन आत्मघाती विचारों और आत्म-विनाशकारी योजनाओं के बारे में बात करने के लिए अपने चिकित्सक और/या मनोचिकित्सक से संपर्क करने की ज़रूरत है। परिवार के किसी सदस्य या मित्र को अपने साथ चलने के लिए कहें।

अवसाद को समझना और आपकी भावनाओं को चुनौती देना

आपकी भावनाओं और आपके अवसाद पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। भावनाएँ पूर्ण सत्य नहीं होती। भावनाएँ व्यक्तिपरक सोच की संकेतक हैं और आपको उन विचारों के बारे में सोचने की आवश्यकता है जिनकी वजह से आपको आत्महत्या के बारे में सोचना पड़ता है। आत्महत्या करने के बारे में सोचना जीवन और भविष्य के बारे में असत्य पर विश्वास करना है। अतीत में बहुत से लोग अवसाद से जूझ चुके हैं, पर उन्होंने भावनाओं पर भरोसा नहीं किया और हार नहीं मानी। उनमें आगे बढ़ने का साहस था, यह विश्वास करने का साहस कि उनका भविष्य और उनका जीवन बेहतर हो सकता है।

मार्टिन लूथर ने अपने बुरे मूड में से एक का वर्णन किया था: “एक हफ्ते से अधिक समय तक मैं मृत्यु और नर्क के द्वार के करीब था। मैं कांपता रहता था। क्राइस्ट पूरी तरह खो गए थे। मैं हताशा और भगवान की निंदा से हिल गया था” (हियर आई स्टैंड, एबिंगडन प्रेस)।

डॉन बेकर, पादरी और लेखक ने अपने अवसाद के अनुभव के बारे में लिखा: “मैं वास्तविकता से दूर हो गया था। जीवन धुंधला हो गया था। मेरा जीवन दिखावे और कल्पना के अलावा कुछ नहीं लगता था। मुझे लगता था कि किसी को परवाह नहीं है - भगवान को भी नहीं। एकमात्र समाधान – कभी-कभी - आत्महत्या लगता था…”

ये लोग अपनी भावनाओं के पीछे नहीं भागे। उन्होंने निराशा भरे विचारों को खारिज कर दिया और आगे बढ़ गए। वे बाधाओं और हार की अपनी भावनाओं को दूर करने में सक्षम रहे। आपको अपनी नकारात्मक भावनाओं और विचारों से भटकने की ज़रूरत नहीं है।.

अब उस सोच को चुनौती देने का समय आ गया है। अब अपने जीवन को स्वस्थ दृष्टिकोण से देखने का समय आ चुका है। आप एक बहुमूल्य व्यक्ति हैं। आप महत्वपूर्ण हैं और आप अपनी सोच और व्यवहार को बदल सकते हैं और अपने जीवन को बेहतर बना सकते हैं! मैं आपको उम्मीद के लिए भगवान को मौका देने का न्योता देता हूँ। भगवान की ओर रुख करें और उनकी मदद और मार्गदर्शन ले। क्यों न पता लगाएं कि वो क्या कर सकते हैं?! मैंने देखा है कि कैसे उन्होंने जीवन बदल दिए हैं, अवसाद खत्म कर दिया है और उन लोगों के लिए आशा लाए हैं जो इसे खो चुके थे।

ख़ुद से पूछें:

  1. मेरे अवसाद के पीछे कौन सी भावनाएँ हैं?
  2. क्या मुझमें आत्मसम्मान की कमी है?
  3. क्या मुझे ग्लानि की समस्या है?
  4. क्या मैं सम्बन्धों की समस्याओं से जूझ रहा हूँ?
  5. क्या मुझे किसी बात का डर है?
  6. क्या मैं किसी नुकसान से जूझ रहा हूँ?
  7. मेरे दिमाग़ में किस प्रकार के विचार राज करते हैं?
  8. मैं भगवान को पाने की दिशा में आगे कैसे बढ़ सकता हूँ?

परमेश्वर से इन बातों को दिखाने के लिए कहें। फिर, प्रार्थना करें और उन्हें मदद करने के लिए कहें और अपने जीवन को अंदर से बदलने के लिए कहें। हार मत मानिए! किसी ऐसे व्यक्ति से संपर्क करें जो आपके निकट है।

निराशा से आगे बढ़ना

आमतौर पर जिन लोगों को अवसाद होता है वो वह चीज़ें नहीं करते जो उन्हें बेहतर महसूस करने में मदद करती हैं। आपको अवसाद से लड़ने और आगे बढ़ने की ज़रूरत है। अपनी भावनाओं के बारे में, अपने जीवन के बारे में किसी से बात करें। अपनी भावनाओं को किसी के सामने व्यक्त करना बहुत लाभकारी है। किसी से बात करना, विशेष रूप से एक परामर्शदाता के साथ, जो आपको समस्या हल करने में मदद कर सकता है।

शारीरिक जाँच के लिए अपने चिकित्सक से मिलना और उसे अपने अवसाद के बारे में बताने से शारीरिक कारणों का इलाज हो सकता है। सम्भव है कि आपको एंटी-डिप्रेसेंट की ज़रूरत है। नियमित व्यायाम और उचित आहार बहुत सहायक होता है और इससे न्यूरोकेमिकल्स भी बढ़ सकते हैं जिनकी आपके शरीर में कमी है।

प्यार करने वाले लोगों, दोस्तों, भगवान, आपके परिवार और चर्च के सदस्यों के साथ अच्छा समय बिताने से आप जुड़ा हुआ महसूस करेंगे और आपको अपने जीवन में अर्थ हासिल करने में मदद मिलेगी।.

कहाँ से शुरू करें: आपको यह लेख पढ़ना चाहिए। क्या अब आप जीवन की ओर कदम उठाने पर विचार करेंगे? अपने जीवन के पुनर्निर्माण की दिशा में एक कदम? मदद की ओर एक कदम? उन झूठों को मानने से इनकार कर दें जो आप ख़ुद से कह रहे हैं। झूठ कि जीवन निराशाजनक है, आप बेकार हैं और आपका कोई भविष्य नहीं है।

मैं आपको यह बताने आया हूँ कि आपके जीवन का एक भविष्य और एक आशा है। मैंने कई लोगों को मदद लेते और बेहतर जीवन का आनंद लेते देखा है!

अभी एक स्थानीय हॉटलाइन पर कॉल करें (पृष्ठ के शीर्ष पर देखें)। एक सूची बनाएं कि आपको फिर से शुरूआत करने में क्या मदद करेगा।

मुझे आशा है कि मैं आपका ख़ुद को नुकसान पहुंचाने के निर्णय को बदलने में सफल रहा हूँ। कृप्या मदद के लिए किसी से संपर्क करें, या इस साइट पर एक सलाहकार से बात करें।. अपने पादरी, परामर्शदाता, किसी मित्र, अपने चिकित्सक को फ़ोन करें। अभी जीवन और आशा की ओर कदम बढ़ाएं।

यह लेख, “गिव लाइफ़ अनादर चॉइस,” लिनेट जे. होय द्वारा लिखा गया है।